शपथ में क्यों नहीं गए सोनिया , राहुल और मनमोहन

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी , पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह या फिर पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मुंबई शिवाजी पार्क में जा सकते थे । जहां गुरुवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शपथ ली । 

लेकिन बस एक हिचकिचाहट ने उन्हें रोक लिया । इसके पीछे का कारण साफ है । कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी , पंडित जवाहर लाल नेहरू सरदार बल्लभ भाई पटेल की पाटी को धर्मनिरपेक्ष , अहिंसा में विश्वास रखने वाली उदार विचारधारा की पार्टी मानती हैं । इसके समानांतर शिवसेना को उसकी अबतक की । 

राजनीतिक यात्रा के आधार पर कट्टर हिन्दुत्व की राजनीति करने वाली तथा हिंसा में भरोसा रखने वाले राजनीतिक दल के तौर पर मानती हैं । कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की मंशा शिवसेना के नेतृत्व वाली सरकार को बाहर से ही । समर्थन देने की थी । एनसीपी प्रमुख शरद पवार को अक्टूबर महीने में चुनाव का नतीजा आने और गठबंधन की सरकार बनने की । सुरत में इसी स्थिति का अंदाजा था लेकिन बताते हैं शरद पवार की कोशिश ने तस्वीर को बदल दिया । 

कांग्रेस भी शिवसेना - एनसीपी सरकार का हिस्सा बन गई । शपथ ग्रहण में शामिल न होने की वजह वहां जाने के बाद चैनलों और अखबारों में प्रकाशित होने वाली संभावित तस्वीरें थीं । पार्टी नेताओं का मानना है कि इससे पून देश में राजनीति और विचारधारा को लेकर गलत संदेश जाएगा ।

Comments